नींद's image
Share0 Bookmarks 28 Reads1 Likes

कृष्ण पक्ष की अंधेरी रातों में ,

नयन ज्योति सा चमक रही ,

मुखरा जैसे चांद टुकड़ा ,

प्यारा सा , शीतलता सा ,

हमें कोमलता से सुलाए चले ।


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts