लेखक's image
Share0 Bookmarks 102 Reads1 Likes
आवाज़ न हो तो शब्दों से जो बात बनाकर कहते हैं |
बिन बोले ही वो लेखन से संवाद कराकर रहते हैं |
ऐसे ही गुण-धरम मानस को लेखक हम सब कहते हैं | 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts