ज़िन्दगी हबाब सी's image
Poetry1 min read

ज़िन्दगी हबाब सी

Kiran K.Kiran K. September 9, 2021
Share0 Bookmarks 6 Reads1 Likes

सुना था मैंने हबाब जैसी है ज़िंदगानी

मुझे तो जैसे सराब लगती हैं मेरी साँसें


-किरण के. ✍

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts