दवा-ए-उदासी's image
Share0 Bookmarks 37 Reads1 Likes

मिटी जा रही है ये दुनिया मुसलसल ये कैसी वबा है 

दवा-साज़ तू क्यों बनाता नहीं है दवा-ए-उदासी..!!


-किरण के. ✍

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts