बारान-ए-अश्क़ का सावन's image
Love PoetryPoetry1 min read

बारान-ए-अश्क़ का सावन

Kiran K.Kiran K. October 28, 2021
Share0 Bookmarks 46 Reads1 Likes

आ गया है लौट सावन फिर लिए बारान-ए-इश्क़ 

हिज्र में रोने के देखो फिर ज़माने आ गए।


-किरण के.

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts