दुनियां's image
Share0 Bookmarks 95 Reads0 Likes

ओ ऊपर वाले !

देख तेरी इस दुनियां का क्या हाल हो गया,

लोगों का हाल बेहाल हो गया ।


अब तो ईमान यहां कौड़ियों में बिकते है,

प्यार और भावनाएं तो सोने चांदी  में तुलते है ।


हर चीज़ का यहां पर मोल है,

सच ही तो कहा है दुनियां गोल है ।


इंसान तो इंसान अब तो  लाशों का भी मोल है 

भाई बन बैठा है भाई का दुश्मन

अब चारों तरफ़ है बस सिक्कों की ठनठन ।


©️ काव्या शेखर





No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts