प्रेम जब प्रकट होकर अपना अनुभव देता है - © कामिनी मोहन पाण्डेय।'s image
Poetry1 min read

प्रेम जब प्रकट होकर अपना अनुभव देता है - © कामिनी मोहन पाण्डेय।

Kamini MohanKamini Mohan April 15, 2022
Share0 Bookmarks 68 Reads1 Likes
प्रेम जब प्रकट होकर
अपना अनुभव देता है,
तब हमारे आस-पास से
सारे छल-छद्म नष्ट हो जाते हैं।

- © कामिनी मोहन पाण्डेय।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts