कविता को - कामिनी मोहन।'s image
Poetry1 min read

कविता को - कामिनी मोहन।

Kamini MohanKamini Mohan April 23, 2022
Share0 Bookmarks 131 Reads1 Likes
कविता को
नैतिक चेष्टा के रूप में
अपनाना
यथार्थ बोध है।
- © कामिनी मोहन पाण्डेय।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts