209.प्रगति और प्रवाह का मार्ग - कामिनी मोहन।'s image
Poetry1 min read

209.प्रगति और प्रवाह का मार्ग - कामिनी मोहन।

Kamini MohanKamini Mohan January 9, 2023
Share0 Bookmarks 110 Reads1 Likes
प्रगति और प्रवाह का मार्ग अपनाने से ही मुक़द्दस गंगा की तरह निरंतरता बनी रहती है।
- © कामिनी मोहन पाण्डेय।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts