रुपए के लिए's image
Share0 Bookmarks 79 Reads1 Likes

रुपया कितना गिरा 

ध्यान सबका है,


रुपए के लिए 

लोग गिर रहे है 

उसका क्या ?


रुपए के लिए 

मानवता गिर रही है 

उसका क्या ?


सब अंधे बोटिया 

बटोरने में लगे है,


रुपए के लिए

जो इंसानियत को 

मार रहा है 

उसका क्या ?


~ जीतेन्द्र गुरदह

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts