मेरी मंजिल's image
Share0 Bookmarks 536 Reads1 Likes
मुश्किलों से हारना 
हमें नहीं आता
कोई कितना भी रोके
रूक जाना हमे नहीं आता ।

लोग कोशिश करना छोड़ देते है
अपनी मंजिल को पाने के लिये 
पर बिना मंजिल को पाए
रूक जाना हमे नही आता ।

मंजिल भी उसकी थी
रास्ता भी उसका था
एक मैं ही अकेला था
बाकि सारा काफ़िला भी उसी का था ।

एक साथ चलने की सोच 
भी उसकी थी
और बाद में रास्ता बदलने
का फैसला भी उसी का था ।

ना किसी से कोई ई

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts