लोग है ना । Log Hai Na's image
Share0 Bookmarks 933 Reads1 Likes
तू अपनी पहचान बना 
भीड़ मे चलने के लिये 
लोग है ना ,

तू अपना रास्ता ढूंढ 
बिना रास्ता चलने के लिये 
लोग है ना ,

तू आगे बढ़ता चल 
पीछे खीचने के लिये 
लोग है ना ,

तू अपनी उम्मीद पर चल
नाउम्मीद के लिये 
लोग है ना , 

तू अपनी खूबियाँ ढूंढ 
कमियाँ निकालने के लिये 
लोग है ना , 

सपना देखना है तो अच्छा देख 
बुरा सपना देखने के लिये 
लोग है ना ,

उड़ान भरनी है तो उँची भर 
नीचे रहने के लिये 
लोग है ना , 

तू कुछ करके तो दिखा दुनिया को
तालियाँ बजाने के लिये 
लोग है ना ।।

© जीतेन्द्र मीना ' गुरदह '

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts