कविताएं ।'s image
Share0 Bookmarks 127 Reads0 Likes
कविताएं 
संवार लेती है 
व्यक्ति के भावों को
आदर्शों को , 
क्रूरता पन को ,

कविताएं 
कोमल होती है 

कितनी 
जगह होगी 
उस पंक्ति में, जिसमें 
कविताएं समा जाती है ।

© जीतेन्द्र मीना , गुरदह

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts