बेटियाँ's image
Share0 Bookmarks 81 Reads1 Likes
छोटी उम्र में ही 
संभला दी जाती है ,
उन जिम्मेदारियों का 
नाम है बेटियाँ ।

लिहाज तक नही करते
उनकी छोटी उम्र का ,
छोटी उम्र में ही 
ब्याह दी जाती है बेटियाँ ।

पिता का गुमान 
माँ की वो साथी है ,
कहने को पराया धन 
होती है बेटियाँ ।

तन की कोमल ,
मन की बड़ी 
सच्ची होती है बेटियाँ । 

© जीतेन्द्र मीना , गुरदह 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts