ये शाम कुछ कहना चाहती है ।'s image
Zyada Poetry ContestPoetry1 min read

ये शाम कुछ कहना चाहती है ।

jayshreekunwar20jayshreekunwar20 September 19, 2022
Share1 Bookmarks 24 Reads2 Likes

ये शाम कुछ कहना चाहती है ,

कुछ अधूरी सी रोशनी में डूबना चाहती है ।

समेटना चाहती है ,

और इस वक्त को बयान करना चाहती है ।


ये जज्बातों को ,

इस लालिमा मे मशहूर बना देना चाहती है

समय के चक्र मे,

अपना समय बनाना चाहती है

ये शाम कुछ कहना चाहती है ।


अपने रंग से, 

इस आसमान को रंगीन कर देना चाहती है

एक अलग महक ,

इन हवा में बहा देना चाहती है

ये शाम कुछ कहना चाहती है ।



-Jaiश्री

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts