शायरी का सच's image
Share1 Bookmarks 32 Reads1 Likes

जब तक लिखने वाले के दिल से आह आह नहीं निकलती ।

पढ़ने वालों के मुंह से वाह वाह नहीं निकलती ।


लेखक_जगजीत सिंह सनी ।।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts