शहीद ऊधम सिंह को कोटि कोटि नमन 's image
International Poetry DayPoetry2 min read

शहीद ऊधम सिंह को कोटि कोटि नमन

JAGJIT SINGHJAGJIT SINGH July 31, 2022
Share0 Bookmarks 21 Reads0 Likes

आज ही के दिन जो हुऐ थे अपने देश के लिए कुर्बान।शहीद उधम सिंह तो आज भी है हमारे देश की शान।


चलो शहीद उधम जी की ज़िंदगी के बारे में कुछ बताते है।इनकी देश भक्ति की कहानी आप सब लोगों को सुनाते है।


दो साल की उम्र में पहले मां और 8साल की उम्र में इनके पिता का इस दुनिया से चले जाना।

इतने बड़े गम को उस वक्त पता नहीं कैसे उधम सिंह जी ने अपने दिल में दबाना।


सोच लिया था उस वक्त अपने देश के लिए कुछ करके मैंने है दिखाना।

जलियांवाला बाग में इन्होंने लोगों को पानी पिलाने की सेवा निभाना।


लेकिन तभी माइकल ओ डायर ने अपनी फ़ौज को मासूम और हजारों निहत्थे लोगों पर गोलियां चलाने का आदेश सुनना।

जिससे वहां भगदड़ मच जाना।

और लोगों ने अपनी जान बचाने के लिए कुएं में कूद जाना।


लेकिन हजारों लोगों ने फिर भी बच ना पाना।

इस घटना ने उधम सिंह के दिल पे ठेस पहुंचाना।


इस कांड का बदला लेने के लिए उधम सिंह जी ने लंदन पहुंच जाना।

फिर 13मार्च 1940को उदम सिंह जी ने माइकल ओ डायर पे कई गोलियां बरसाना।


उसके बाद पुलिस ने इन्हें गिरफ़्तार करके लेके जाना।4जून को उधम सिंह जी को माइकल ओ डायर की मौत का दोषी ठहराया जाना।

और फिर सन 1940 31जुलाई यानी आज ही के दिन इन्हें फांसी की सजा सुनाना।


लेकिन उधम सिंह जी ने अपनी ज़िंदगी में सीखा नहीं था कभी घबराना।

प्रभु ,नीलू दीदी और मेरी मां ने मिलकर हर बार कुछ ना कुछ नया ही लिखवाना✍️

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts