नाजुक रिश्ते's image
Share0 Bookmarks 27 Reads0 Likes

चलो आज मां बाप और बच्चों की लिखते है कहानी ।

इतना नाज़ुक होता है ये रिश्ता जब भी इस रिश्ते पर किसी ने लिखने की कोशिश की होगी उसकी आंखों में जरूर आया होगा पानी ।


मां बाप अपने बच्चों को वैसे तो बहुत हिम्मत और ताकत देते ।

अपने बच्चों पर आये हुऐ कष्ट भी कई बार मां बाप अपने ऊपर ले लेते ।

लेकिन खुद पर जब कोई दुख तकलीफ़ आती तो मां हो या बाप वो अपने अंदर छुपा लेते ।


जब कोई बेटी अपने बच्चे को जन्म देने वाली होती है ।

उसकी मां को ही पता होता है उसकी बेटी की क्या हालत होने वाली होती है ।


एक औरत जब भी किसी बच्चे को जन्म देती ।

एक पल तो ऐसा लगता है जैसे वो दूसरा जन्म लेती ।


वो पीड़ा बस वो औरत समझ पाती ।

जो इस रास्ते से गुज़र के है आती ।


बाप का भी अपनी बेटी की ज़िन्दगी में रोल होता है बड़ा ।

क्योंकि जब भी कभी बेटी की ज़िन्दगी में कोई मुसीबत या परेशानी आती वो बाप ही होता जो सबसे पहले हो जाता है खड़ा ।


मां बाप और बच्चों को रिश्ता होता है बड़ा खास ।

दुख सुख या कोई मुसीबत मां बाप या बच्चों की ज़िन्दगी में अगर आये आंखों में आंसू आ जाते है दोनों के अपने आप ।


मां बाप अपने बच्चों को देते है अच्छे संस्कार ।

बच्चे भी करते है अपने मां बाप से बहुत प्यार ।

प्रभु,नीलू दीदी और मेरी मां के आशिर्वाद के बिना सनी से कोई पोस्ट होती नहीं कभी त्यार✍️

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts