Maa vishno devi darbaar ki ghatna ko lekar's image
Share0 Bookmarks 13 Reads0 Likes

कैसी ये नये साल की खुशी आई।

माता वैष्णो देवी मंदिर में मची भगदड़ में 12मासूम लोगों ने अपनी जान गवाई ।

जो घायल हुऐ उन्हें भी कई गंभीर चोटें आई।


कोई कुछ भी समझ ना पाया।

कैसा ये नया साल आया।


कई अपने अपनों से होंगे बिछड़े।

पता नहीं कितने घर होंगे इस हादसे में उजड़े।


चश्मदीद ने कहा मेरे सामने एक 14,15साल की लड़की ने दम तोड़ा।

एक इंसान ने कहा मैं पिछले 20साल से लगातार आ रहा हूं लेकिन इस बार तो भीड़ ने अब तक का रिकॉर्ड तोड़ा।



सोचा होगा सबने नया साल इस बार भी मां वैष्णो देवी के दरबार में मनाएंगे।

किसे पता था जो घर से निकले थे वो कभी घर वापिस ज़िंदा नहीं जाएंगे।


पुलिस और मंदिर परिषद ने किसका निकाले कसूर।

जितने मासूम लोग मरे वो तो सारे थे बेकसूर।


सरकार का कुछ ना गया।

किसी का हंसता खेलता परिवार उजड़ गया।


सारी उम्र वो लोग ये दर्द ना भूल पाएंगे।

जो एक बार इस दुनियां से चले गये वो वापिस कहा आएंगे।


अपनों से बिछड़ जाने का गम ज़िन्दगी भर कभी नहीं भर सकता।

ये ज़माना कहा किसी का दर्द समझ सकता।


प्रभु,नीलू दीदी और मेरी मां का आशिर्वाद अपने बेटे सनी से हर मुद्दे पे लिखवा सकता✍️

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts