हिंद की चादर श्री गुरु तेग बहादुर जी को कोटि कोटि नमन's image
International Poetry DayStory2 min read

हिंद की चादर श्री गुरु तेग बहादुर जी को कोटि कोटि नमन

JAGJIT SINGHJAGJIT SINGH April 21, 2022
Share0 Bookmarks 18 Reads0 Likes

हिंदू धर्म को बचाने के लिये जिन्होंने अपना सीस तक था कटवाया ।

हिंद की चादर कहे जाने वाले महान गुरु श्री गुरु तेग बहादुर जी का 400वा प्रकाश पूर्व आज आया।


मुगल बादशाह औरंगजेब अपनी पूरी ताकत लगा के भी जिनसे इस्लाम धर्म कभी कबूल ना करवा पाया।

 झूठ कभी सच से आज तक जीत ना पाया।


हिंदू धर्म पे जब बहुत बड़ा ख़तरा था आया।

वो गुरु तेग बहादुर जी ही थे जिन्होंने अपनी कुर्बानी देकर 

हिंदू धर्म को था बचाया।

जिनकी याद में दिल्ली में गुरुद्वारा शीश गंज और गुरुद्वारा रकाब गंज बनाया।


गुरु तेग बहादुर जी की बहादुरी के किस्से थे बहुत बड़े।

जिसने भी कभी मासूमों पे ज़ुल्म किया गुरु तेग बहादुर जी उसके खिलाफ़ डट कर हो जाते थे खड़े।


औरंगजेब कभी गुरु जी को हरा नहीं पाया।

गुस्से में आकर औरंगजेब ने गुरु तेग बहादुर जी का सर कलम करने का हुक्म सुनाया।

जब श्री गुरु तेग बहादुर जी ने हंसते हंसते अपना सीस कटवाया था।

तब जाकर हिंदू धर्म बच पाया था।


इसलिए आज सब गुरुद्वारे सजे है ।

सब लोग सुबह सुबह माथा टेकने और गुरु पिता का आशिर्वाद लेने गुरुद्वारे जा रहे है ।


प्रभु,नीलू दीदी और मेरी मां मिलकर अपने बेटे सनी से सुबह की पहली पोस्ट इतने महान गुरु श्री गुरु तेग बहादुर जी के बारे में लिखवा रहे✍️

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts