Happy Birthday Kapil Dev Sir's image
Share0 Bookmarks 22 Reads0 Likes

जिन्होंने सबसे पहले अपनी टीम और इस देश को साल 1983में वर्ल्ड कप था दिलाया।


देखते है आज प्रभु,नीलू दीदी और मेरी मां ने मिलकर क्रिकेट की दुनियां के सबसे खतरनाक गेंदबाज और बल्लेबाज़ कपिल देव के बारे में अपने बेटे सनी से क्या लिखवाया।


1983वर्ल्ड कप शुरू होने से पहले भारतीय टीम का कई लोगों ने खूब मज़क था उड़ाया।

अपने शहर चंडीगढ़ का इन्होंने गौरव था बढ़ाया।


जब इन्होंने देश वासियों के सपने वर्ल्ड कप को जीत के दिखाया।

उस समय वेस्ट इंडीज टीम को तो कुछ समझ ना आया।

क्योंकि लगातार 3बार वर्ल्डकप जीतने का उनका सपना पूरा ना हो पाया ।


जिम्बावे के साथ वो यादगार मैच कोई ना भुला होगा।

किसे पता था ये मैच बीबीसी की हड़ताल के कारण किसी भी कैमरे में कैद ना होकर सिर्फ़ इतिहास के पन्नों में दर्ज़ होगा।


अभी तो कपिल देव नहा कर बाहर भी नहीं आये थे।

 जब भारतीय टीम ने 9रन पर अपने 4बेहतरीन बल्लेबाजों के विकेट गवाएं थे।


सुनील गावस्कर और श्रीकांत तो अपना खाता भी ना खोल पाएं थे।

उसके बाद अमरनाथ 5,और संदीप पाटिल सिर्फ़ 1रन बनाकर वापिस पवेलियन आये थे।

यशपाल शर्मा भी कुछ खास कमाल ना दिखा पाये थे।


मुश्किल में टीम खड़ी थी(17/5)।

टीम को इस मुश्किल से बाहर निकालने की जिम्मेदारी कपिल देव पर आ गई थी सच में जिम्मेदारी उस वक्त बहुत बड़ी थी ।


श्याईद किरमानी के शब्दों ने कपिल देव पे ऐसा असर दिखाया।

उसके बाद ही तो कपिल देव का 175रन बनाने का तूफान था आया।


चौके और छक्के लगा के जिम्बाब्वे की टीम के गेंदबाजों को धो डाला।

अंपायर ने आकर बताया था कपिल देव को की बहुत बहुत बधाई आपको आपने वर्ल्ड रिकॉर्ड बना डाला।


फिर फाइनल में वेस्ट इंडीज की टीम ने भारत को किया नज़र अंदाज़।

जब भारत वर्ल्ड कप जीत गया वो पल बन गया बड़ा खास।


कपिल देव ने पहली बार ही तब टीम की कप्तानी थी करी।

सबने इनकी कप्तानी की बहुत बहुत तारीफ़ करी।


अगर कपिल देव विवन रिचर्ड का कैच ना पकड़ पाते।

तो ये मैच हम कभी जीत ना पाते।


दौड़ते दौड़ते कपिल देव ने वो कैच पकड़ा लिया।

भारतीय टीम ने फिर मैच को पूरी तरह से जकड़ लिया।


कपिल देव ने पूरे वर्ल्ड कप में रन बनाने के साथ साथ कई विकेट भी झटके।

तीसरी बार वर्ल्ड कप ना जीत सके वेस्ट इंडीज की सारी टीम के चेहरे रह गये लटके।


कई कीर्तिमान कपिल देव ने अपने नाम किये।

टेस्ट मैचों में इन्होंने 434 विकेट भी लिये।


जो कुछ भी आज तक सनी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पे डाले है वो एक एक शब्द प्रभु और नीलू दीदी की कलम ने मुझे दिये✍️

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts