हैप्पी बर्थडे एमएस धोनी's image
International Poetry DayPoetry4 min read

हैप्पी बर्थडे एमएस धोनी

JAGJIT SINGHJAGJIT SINGH July 7, 2022
Share0 Bookmarks 10 Reads0 Likes

अपने दिमाग़ से और अपनी कमाल की बल्लेबाज़ी से किया जिन्होंने कई बार किया अनहोनी को होनी।

जन्मदिन है जिनका आज नाम है उनका महेंद्र सिंह धोनी।


कैसे ऐक साधारण सा लड़का इतना बड़ा क्रिकेटर बना।मिला जब प्रभु,नीलू दीदी और मां का आशिर्वाद लिखने की तरफ़ सनी का ध्यान लगा।


धोनी के पिता क्रिकेट खेलने के थे सख्त खिलाफ़।

बार बार कहते थे क्रिकेट खेलने के चक्र में तुम फेल हो जाओगे लिख लो तुम ये मेरी बात।


गुस्सा इनके पिता का कई बार पहुंच जाता था सातवें आसमान पर।

शुरवात के दिनों में बहुत छोटा था एमएस धोनी का घर ।


लेकिन महेंद्र सिंह धोनी की तो क्रिकेट खेलने की दीवानगी थी बड़ी ।

शुरवात के दिनों में मुश्किलें एमएस धोनी के आगे भी कई थी खड़ी ।


रांची जिले के है धोनी रहने वाले।

पूरी दुनिया में है आज माही के चाहने वाले।


मेरे दोस्त इष्प्रीत तो आज भी इनको अपना गुरु मानते है। 

हर साल वो धोनी के जन्मदिन पर केक काटते है ।


रेलवे में मिली जब इन्हें नौकरी।

खुल गई यही से इनकी किस्मत की टोकरी।


बड़ी मुश्किल से मिला इन्हें भारत के लिऐ खेलने का मौका।

भारत श्रीलंका का वो मैच जिस में इन्होंने 183रन बनाएं थे श्रीलंका के गेंदबाजों को बड़ी बुरी तरह से था धोनी ने ठोका।


परवेज मुशर्रफ भी हो गये थे इनके लंबे बालों और बल्लेबाज़ी के कायल।

धोनी की ऐक स्माइल पे कई लड़कियां हो जाती आज भी घायल।


पहले प्रियंका नाम की लड़की का इनकी ज़िंदगी में हुआ आना

फिर कुछ समय बाद उसकी मौत हो जाना।

शुशांत सिंह राजपूत ने ये बात एमएस धोनी फिल्म के जरिए लोगों को बताना।


फिर शाक्षी का इनकी ज़िंदगी में हुआ आना।

साल 2010में शाक्षी को धोनी ने अपना जीवन साथी बनाना।

फिर इनके घर में बेटी जीवा आई।

अपने साथ ढेर सारी खुशियां लाई ।


एमएस धोनी ने अपनी कप्तानी में भारतीय टीम को कई सीरीज जिताई ।

एक से बढ़कर एक कई ट्रॉफी दिलाई ।


साउथ अफ्रीका में वर्ल्ड कप का वो मैच।

मिसबाऊ उल हक का श्रीसंत ने जब पकड़ लिया था कैच।


पहले मिनी वर्ल्ड कप में भारत को विजेता बनाना।

फिर 2011में 28साल बाद इनकी कप्तानी में भारत ने वर्ल्ड कप जीत पाना।


जब फॉर्म में चल रहे युवराज सिंह को क्रीज में ना भेज के खुद बैटिंग करने मैदान में चले आना।

और फिर भारत को धोनी ने जीत दिलाना।

ये दिन किसी हिंदुस्तानी ने कभी ना भूल पाना।


अच्छे कैप्टन की यही होती पहचान।

मुश्किल हालातों में भी एमएस धोनी लेते थे सबर से काम।


चीते की तरह धोनी का भागना।

बल्लेबाज़ जरा सा क्रीज के बाहर क्या निकल जाये ये स्टंप को कुछ सेकंड में ही धोनी ने उखाड़ना।

सीधे थ्रो को बिना देखे विकेटों पर मारना।


विरोधी टीम हो जाती थी इनकी फुर्ती देख कर परेशान।इनके जैसे हेलीकॉप्टर शॉट मारने हर किसी बल्लेबाज़ के बस की नहीं ये बात। 

भारत सरकार की तरफ़ से मिला है इन्हें बड़े से बड़ा सम्मान।


महंगी गाड़िया और महंगे मोटर साइकिल की धोनी के पास है पूरी भरमार।

पैसों की बारिश आज भी हो रही लगातार।

ये तो प्रभु,नीलू दीदी और मेरी मां है जो अपने बेटे सनी से लिखवाते है हर बार✍️

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts