एक मासूम बेटे और उसके पिता के प्यार की कहानी 's image
International Poetry DayPoetry3 min read

एक मासूम बेटे और उसके पिता के प्यार की कहानी

JAGJIT SINGHJAGJIT SINGH November 22, 2022
Share0 Bookmarks 16 Reads0 Likes

आज एक मासूम बच्चे की लिखने लगा हूं कहानी ।

जिसके पास साफ़ दिल होगा सिर्फ़ उसकी आंखों में आयेगा पानी ।


अपने पिता को उस बच्चे ने सिर्फ़ 1.5साल की उम्र में खो दिया ।

ये देख कर हर कोई रो दिया ।


उस बच्चे का अपने बाप से इतना था प्यार ।

सारा दिन बाप बेटा मस्ती करने को हर वक्त रहते थे त्यार। 


आज भी वो मासूम बच्चा अपने बाप को ढूंढता है ।

मेरे पापा कहा चले गये आंखों ही आंखों में सबसे पूछता है ।


क्यों पापा आपकी सूरत अब मुझे नहीं देती दिखाई ।

क्यों पापा आपकी आवाज़ मुझे क्यों नहीं देती सुनाई ।


वो बच्चा सोचता तो होगा मेरे पापा कभी गोद में मुझे उठाते थे ।

रोज़ नई नई जगह मुझे घुमाते थे ।

बड़े प्यार से मुझे सुलाते तो कभी प्यार से मुझे जगाते थे ।


अभी तो वो मासूम चलने लगा था ।

पापा पापा बड़े प्यार से बोलने लगा था ।


आज वो मासूम सोचता तो होगा ।

मां है पास 

पास है मेरे भाई लेकिन भगवान अपने मेरे बाप को मुझसे छीन लिया क्यों आपको मुझ पर जरा भी दया नहीं आई ।


एक छोटे से मासूम ने अपनी छोटी सी उम्र में बड़ा कुछ देखा लिया ।

प्रभु क्यों आपने इतना बड़ा ज़ुल्म किया ।


वो बच्चे को अभी तो अपने बाप का मिला भी नहीं था पूरा प्यार ।

अपनी मां को रोता हुआ देखने के लिये वो बच्चा बिलकुल नहीं त्यार ।


जब भी रोती है उसकी मां वो मासूम सा बच्चा आकर अपनी मां को बड़े प्यार से चुप करवा देता है ।

अपनी मां को अपने गले से लगा लेता है ।


पापा आपके साथ बिताया हुआ एक एक पल याद आयेगा ।

मुझे पता है पापा जो वक्त हमने आपने साथ बिताया था वो वक्त फिर कभी लौट के नहीं आयेगा ।


पापा आपके बिना दिल नहीं लगेगा ।

ना रात हमारी कटेगी न दिन हमारा कटेगा ।

दर्द है ये इतना बड़ा जो शायद ज़िन्दगी भर ना भरेगा ।


लोगों को आती है बस तरह तरह की बातें बनानी ।

 ऐसे लोगों को ना कभी शर्म आई ना कभी आनी ।


एक छोटे से मासूम से बच्चे पर सिर्फ़ प्थर दिल वाले लोगों को दया ना आनी ।

अहंकार के घोड़े की कभी करनी नहीं चाहिए सवारी क्योंकि किसी को नहीं पता कब किसकी जान निकल जानी ।


एक मासूम से फूल जैसे बच्चे की और उसके बाप की प्यार भरी ये थी छोटी सी कहानी ।

प्रभु,नीलू दीदी और मेरी मां ने मिलकर उस बच्चे और उसके पिता के प्यार को लेकर ये पोस्ट थी लिखवानी✍️

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts