अलविदा बिरजू महाराज जी's image
International Poetry DayPoetry2 min read

अलविदा बिरजू महाराज जी

JAGJIT SINGHJAGJIT SINGH January 17, 2022
Share0 Bookmarks 30 Reads0 Likes

कल रात दुख की वो घड़ी आई ।

जब बहुत ही जाने माने शास्त्रीय नृत्य कलाकारों में से एक बिरजू महाराज जी की मौत की ख़बर आई।


जब भी प्रसिद्ध शास्त्रीय नृत्य कलाकारों की बात होगी।

 बिरजू महाराज जी की बात तो जरूर होगी।


किडनी की बीमारी ने ले ली इनकी जान ।

बिरजू महाराज जी को मिला है बड़े से बड़ा सम्मान।


अभी 4फरवरी को इनका जन्मदिन था आने वाला ।

लेकिन किसे पता था हिंदुस्तान का ये नगीना हमेशा हमेशा के लिये है अब है जाने वाला।


अब कौन ताल और घुँघुरूओं को एक साथ प्यार से मिलायेगा।

बिरजू महाराज की जगह कोई नहीं भर पायेगा।


16साल की उम्र में पहली बार अपना हुनर था बिरजू महाराज जी ने था दिखाया।

पता नहीं कितने बच्चों को बिरजू महाराज ने शास्त्रीय नृत्य था सिखाया।


9साल की उम्र में बिरजू महाराज ने अपने पिता को था गंवाया।

लेकिन इसके बाद बिरजू महाराज टूटे नहीं कथक संगीत को इन्होंने अपनी सबसे बड़ी ताकत था बनाया।


पैसा और नाम बिरजू महाराज ने खूब था कमाया।

वैसे तो सारी ज़िन्दगी बिरजू महाराज जी ने बहुत लोगों को कथक संगीत था सिखाया।

लेकिन जैसे ही इनकी मौत की ख़बर आई।इनको सुनने वालों की आंखों से आंसू आया।

बड़े बड़े लोगों ने बिरजू महाराज जी की मौत पर शोक जताया।


फिल्मफेयर और पदमविभूषण जैसे सम्मान भी बिरजू महाराज जी को थे मिले।

कल रात को ली बिरजू महाराज जी ने ली अंतिम सांस और हमेशा हमेशा के लिये इस दुनियां को अलविदा कह कर चले ।


प्रभु,नीलू दीदी और मेरी मां ने अपने बेटे सनी को दिया आशिर्वाद इसलिए फिर लिखने के लिये सनी के हाथ चले ✍️

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts