पिताह's image
Share0 Bookmarks 10 Reads0 Likes
अँधेरा काटकर उजाला ख़रीद लाया वो मुफलिसी से जीतकर खुशिया ख़रीद लाया 
जरूरतें तो थी मग़र जरुरी न थी
वो  को दफ्न कर  खरीद लाया 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts