Motivation !'s image
Share0 Bookmarks 50 Reads1 Likes
 मैं वो पंछी हू जिसका कोई साथी नही है
पर फिर भी खुले आसमान मे उड़ना चाहता हूँ ,
मैं वो पंछी हू जिसका कोई ठिकाना नहीं 
पर फिर भी ख़ुद घोंसला बनाना चाहता हूँ ,

मैं वो पंछी हू जो गहरे समुंद्र को नापना चाहता हूँ 
और कड़कती धूप मे रेहगिस्तान की मिट्टी को छू ना चाहता हूँ ,
मैं वो पंछी हू जो चील के आगे डटकर खड़ा होना चाहता हूँ ।


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts