सारे मुल्क़ों को नाज था's image
1 min read

सारे मुल्क़ों को नाज था

I A ShaikhI A Shaikh June 16, 2020
Share0 Bookmarks 29 Reads0 Likes

सारे मुल्क़ों को नाज था

अपने अपने परमाणु पर

कायनात बेबस हो गई

एक छोटे से कीटाणु पर

तुं तुच्छ-ओ-अदना कण

साम्राज्य फैलाने चला तुं

पृथ्वी  से परे दूजे ग्रह

चंद्र-परिक्रमा परि-भ्रमण

प्रभुजी ने एक ही कीटाणु से

भ्रम तेरा किया रमण-भ्रमण

सजदा भी तेरा गँवारा नहीं

आज बंध हर ⛪️ गिरजा

मंदिर-मस्जिद व गुरुद्वारा

ग़ज़ब कोरोना तेरा आकर्मण

घर बैठे सच्चे दिल से कर ले

तु महान कृपालु प्रभु-स्मरण

बख्श देगा ख़ता वह निरंजन

निराकार लीला है अपरंपार

उसकी दयालु वही तारएाहार

बिनंती सुनिए जग-पालनहार

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts