बड़े अरसे बाद's image
Share0 Bookmarks 27 Reads1 Likes

बड़े अरसे बाद आज वो नज़र आया है

देखकर उसे दिल में मेरे ख्याल आया है


न जाने आज कैसे खुदा ने रहम बरसाया है

मेरी इबादत का फल मेरे सामने लाया है


पथराते नैनो से कैसे उसे निहारूँ मै

सालों से बन्द अधरों से कैसे उसे पुकारूँ मै


नज़र आता है वो आज भी बेपरवाह सा

सामने आते ही रहता है जो खोया खोया सा


न मालूम ये इश्क़ है या है नफरत का तरीका या

उसे आज भी न समझ आया प्यार का सलीका


कैसे उसे प्रेम की भाषा मै सिखलाऊँ

या इश्क़ ए इज़हार करना बतलाऊँ


दिल के कोने कोने में बसा है उसके लिए प्यार

इतने सालों के बाद भी बरकरार है उसका इंतज़ार।



No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts