आत्मसम्मान's image
Share0 Bookmarks 6 Reads0 Likes

अपने किरदार को ढालना कुछ इस कदर

कि परिस्थितियों के अनुरूप तुम कर सको

खुद में वे सभी बदलाव, जिनके कारण

तुम्हें सहना पड़ता है मानसिक तनाव

तुम्हारा सहनशील होना काफी नहीं है

ये सहनशीलता ही शत्रु है तुम्हारी अपनी

तुमसे मिलने वाला हर एक व्यक्ति चाहेगा

की तुम उसकी भांति ही व्यवहार करो

तुम करना वो सब जो कर सकते हो तुम

उनकी और अपनी खुशी के लिए

लेकिन इस सब के बाद भी अगर

तुम्हें नजरअंदाज किया जाए

या किया जाए तुम्हारा तिरस्कार

तो तुम देना श्रेष्टता अपने आत्मसम्मान को.


अनुभव मिश्रा #Heartlyimaginations ❤️

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts