'दूसरा कोई नहीं''s image
Share0 Bookmarks 154 Reads1 Likes
जो मैं कभी जाहिर भी न कर सका
उसनेेेेेे  वो ख्वाहिश भी पूरी की है । 

जो कुछ मैंने चाहा वो सब तूने दिया
लेकिन तूने कभी कोई ख्वाहिश न जाहिर की है। 


~हर्षवर्धन तिवारी

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts