तेरी महफ़िल's image
Share0 Bookmarks 47 Reads0 Likes

इस बेरुख़ी की कोई तो हद भी होगी,

बिन बुलाये महफ़िल में आये नही है।


©गोपाल भोजक




No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts