मेरे जज़्बात...'s image
Share1 Bookmarks 127 Reads2 Likes

तू शायद ही समझ सके मेरे जज्बातों को,


जिस तलाश में निकलते है ढूंढ ही लाते है।


©गोपाल भोजक

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts