लफ़्ज़ों के बयान's image
Share0 Bookmarks 52 Reads0 Likes

होते है कई अर्थ मेरे लफ़्ज़ों के बयान में,


पढ़ना मेरे शेर कभी दिल की निगाह से।


©गोपाल भोजक


#worldbookday


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts