चुम्बन दिवस's image
Share0 Bookmarks 77 Reads0 Likes

ताज़गी से भर गये थे,

जीवन सरस बन गया था,

उन लबों को चूम कर के,

इक नशा सा भर गया था।

©गोपाल भोजक

#kissDay


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts