बेरुख़ी...'s image
Share0 Bookmarks 55 Reads0 Likes

इस बेरुख़ी से हम समझ गये।

तू भी शामिल है मेरी तबाही में।

©गोपाल भोजक

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts