हिन्द श्रेष्ठ's image
Ink ItPoetry1 min read

हिन्द श्रेष्ठ

Gopal MishraGopal Mishra March 4, 2023
Share0 Bookmarks 22 Reads0 Likes

विचारों की तेजस्वी आभा को संजोया है हमनें

नव भारत की रचना का बीज़ बोया है हमनें

नवीनता के आवरण़ को आधुनिकता से जोड़ा है हमनें

पुरातऩ संस्कृति को नव भारत स्वरूप से जोड़ा है हमनें

संकल्प़ आत्मनिर्भरता का ले कर्म-पथ पर चल पड़े है हम

हौसलों के बाण़ लिए कठिनाइयों को भेद चलें हैं हम

कर्तव्य का एहसास कर कर्म के स्वरूप में

समृद्ध, श्रेष्ठ, आधुनिक भारत का चित्रण करने चल पड़े हैं हम

ज्ञान, विज्ञान, शोर्य, शांति, समृद्धि, व एकता का कराना है अनुपम मिलन

नव भारत स्वरूप में हिन्द श्रेष्ठ ही है हमारा स्वप्न








No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts