गाँव's image
गाँवों की छत्रछाया में शहर पनपते हैं,
औऱ फ़िर.....
शहर, गाँवो को खा जाते हैं।
~ चेतन विश्वकर्मा

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts