शांति's image
Share0 Bookmarks 0 Reads1 Likes

दर बदर घूमे फकीरा
चैन-ओ-खुशी के तलाश में

पूरी दुनिया की सैर कर आया
न खुशी मिली न चैन,

फिर झांका वो अपनी खिड़की में,

सोचे फकीरा, मैं अक्ल का अंधा,
न झांका अपने मन के अंदर, और
घूम आया मैं दुनिया भर।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts