छाया's image
Share0 Bookmarks 35 Reads0 Likes

पेंसिल से खींची एक लक़ीर 

बड़ते-बड़ते ब्रह्द हो गई 

वह दुनिया की 

सबसे बड़ी लक़ीर मान ली गई 

समुद्र और धरती फिर एक न हो सके 


पहली बार मैंने 

भूगोल का मानचित्र बनाया था 

रबर घिसते-घिसते ड्राइंग शीट हो गई 

नीले रंग ने हठ नहीं छोड़ा 

तब से आकाश नीला है 


समुद्र के आकाश हो जाने की कल्पना 

साकार हो गई 

वह लक़ीर मिट न सकी 


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts