#स्वर्ग में एक डाकघर होता तो's image
OtherPoetry1 min read

#स्वर्ग में एक डाकघर होता तो

Devesh DixitDevesh Dixit November 3, 2021
Share0 Bookmarks 77 Reads1 Likes
स्वर्ग में एक डाकघर होता तो
संदेशा लिख कर भेजता रोज
सब लेता मैं खबर वहाँ की
मम्मी पापा के बारे में सोच

खत लिखता मम्मी पापा को
दे कर उनको ही मैं दोष
क्या जल्दी थी इतनी जाने की
क्यों गए तुम मुझको छोड़

स्मरण कर तुम्हारे प्रेम को
उड़ा देता मैं अपने होश
तस्वीर निहारूँ तुम दोनों की
काश मैं भी होता वहाँ ये सोच

पास में पाता तुम दोनों को
बेशक झेलता तुम्हारा रोष
कमी है अभी तुम्हारे प्यार की
काश मैं मिलने आ पाता रोज

स्वर्ग में एक डाकघर होता तो
तुमको लिखता खत मैं रोज
ईश्वर के आगे चली है किस की
यही रह जाता हूं अक्सर सोच
..............................................
देवेश दीक्षित

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts