कैसे? मैं मान लूं आ गया अक्टूबर's image
Poetry1 min read

कैसे? मैं मान लूं आ गया अक्टूबर

deepak(बेख्याली)deepak(बेख्याली) October 11, 2022
Share0 Bookmarks 38 Reads0 Likes
कैसे? मैं मान लूं आ गया अक्टूबर

 शख्स वो लौटा नहीं अभी तक इधर

बिलोरी आंखें देख जिसकी

 दिल में उठती थी तरंग 

अब कहां जीवन में वो उमंग

 कैसे?  मैं मान लूं आ गया अक्टूबर

उसके होठों में दबी मुस्कुराहट

 बयां करती थी उसके हृदय की छटपटाहट

कैसे? मैं मान लूं आ गया अक्टूबर

दीपक (बेख्याली)

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts