सीखने की शुरुआत's image
Friendship DayPoetry1 min read

सीखने की शुरुआत

VIKKY SINGHVIKKY SINGH September 14, 2022
Share0 Bookmarks 42 Reads2 Likes

जिंदगी में थोड़ा ऐतबार सीखिए,

थोड़ा थोड़ा ही सही प्यार सीखिए,

सीखिए नज़ाकत कलियों से थोड़ी,

रुख से पर्दा हटा, दीदार सीखिए।


मुद्दतों से मिलती है थोड़ी रोशनी,

करना है रोशन कैसे, संसार सीखिए।

उमर के पड़ाव पर पहुंचते तो हैं सब,

तजुर्बा का मुफ्त ही सही, व्यापार सीखिए।


कर दे मशरूफ इश्क में तुम्हें,उसके..

इस इश्क को करना बार बार सीखिए।

मुद्दत के बाद, मिलती है मंजिल,

पहले चलना तो सही, सरकार सीखिए।


इस छोटी सी जिंदगी का फलसफा यही,

दोस्ती उस से हो तो बार बार कीजिए,

भरोसा, प्यार और स्नेह से बना हो जो बंधन,

ऐसे रिश्ते बनाने की है दरकार, ये दरकार सीखिए।।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts