तुम आओ ना 's image
Share0 Bookmarks 21 Reads0 Likes
आज फिर चाय पीने का मन है
आज फिर तुम कही से आ जाओ  ना

फिर चीनी की तरह घुलो मुझमें
फिर दूध की तरह मुझमें समा जाओ ना

बैठा हूं छत की मुंडेर पर , लहरों को तकते हुए
तुम पीछे से आकर फिर मुझसे लिपट जाओ ना

एक हाथ में चाय का प्याला, दूसरे में तुम्हारा हाथ
तुम आ कर  जिंदगी फिर वैसी कर जाओ ना 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts