मुझे कुछ कहना है.... 's image
Women's DayPoetry2 min read

मुझे कुछ कहना है....

Dr Bhawna NagariaDr Bhawna Nagaria March 4, 2023
Share0 Bookmarks 24 Reads1 Likes

हमने यही पढ़ा ..... किताबों में ,

यही सुना......कहानी कहावतों में ,

है नारी -अबला- सुकोमल - कोमलांगी,

है आंचल में दूध और आंख में पानी |



पर क्यों भूलाया … तुमने इतिहास ,

करते देवगन भी  …मेरा गुणगान ,

मैं ही भोग्या…..मैं ही भवानी,

बिन मेरे जग की… .. अधूरी कहानी |



नहीं बुद्धिबल में….कमतर तुमसे ,

है तुम सम ज्ञान….प्रकाश पुंज मुझमें ,

क्या भुल गये  विदुषी भारती का ज्ञान,

जिसने शास्त्रार्थ में….. शंकराचार्य को किया परास्त |



नहीं हठ में ....मेरी कोई सानी ,

होनी को ......अनहोनी कर मानी ,

मैं ही हूं… वो हठधर्मी सावित्री ,

जिससे यम ने भी आखिर … हार मानी |



दिल को भी ....पत्थर कर जाती ,

मैं हर कुठाराघात.....सहज सह जाती ,

मैं ही हूं वो… स्वामीभक्त माँ पन्ना धाय,

जिसने निज पुत्र … सहर्ष कर दिया बलिदान |



बन के मर्दानी..... मैं लड़ जाती ,

नहीं अस्त्र शस्त्र से ......मैं घबराती ,

मैं ही हूं वो…लक्ष्मीबाई झांसी की रानी ,

जो टूट पड़ी थी… अंग्रेजों पर.. बन के काल ,

सन् सत्तावन की… . अमर सेनानी ,

हो गई होम… . पर हार ना मानी |



जाने कितनी..... अमर कथाएं ,

सुना रहीं...... नारी की गाथाएं ,

पर मेरे कहने का… बस यही है सार ,

है युगों युगों से … नारी का सम्मान |



नहीं सहानुभूति की… .  मुझको चाह ,

बस समझकर इंसान… करो परवाह ,

हैं एक दूजे के… . पूरक हम तुम ,

एक दूजे बिन… . अधूरे हम तुम |




No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts