Muhalat's image
Share0 Bookmarks 3 Reads0 Likes

पता है थोड़ी मुहल्लत चाहिए तुझे

मुझे अपना ने के लिए

ये तो तेरे गुस्से पे भी दिल आ रहा है

वरना पराए को कोन हक से चिड़ाता है

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts