शून्य's image
Share0 Bookmarks 48 Reads1 Likes

अनंत सा आकाश है , जो ढूँढने चला तो बस प्यास है,

अंतर क्या उसे इस प्रयास से , शून्य जिसका व्यास है।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts