शर्म's image
Share0 Bookmarks 0 Reads0 Likes
हमको शर्म आती है कभीकभी खुद ही के फ़ैसलेपर,
कि लोगों ने जैसेजैसे कहाँ वो शख्स वैसेवैसे बदला।
~आज़ाद

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts