मज़हब's image
Share0 Bookmarks 23 Reads1 Likes
जो खड़े कर रहे है दूसरे मज़हब पे सवाल,
वो अपने मज़हब की बदनामी कर रहे है।
~आज़ाद

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts