भरम's image
Share0 Bookmarks 10 Reads0 Likes
हक़ीक़त दिखने लगती है मुझे मेरी आंखों के सामने,
मैं क्या करूँ मुझसे अब भरम भी नही रक्खा जाता।
~आज़ाद

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts