2 Liners's image
Share0 Bookmarks 30 Reads1 Likes
जब ज़रूरत थी तब आंखों का तारा थे,
अब तो उनकी आंखों में चुभते है हम।
~आज़ाद

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts